नफ़्ज़

पकड़ी जब नफ़्ज़ मेरी.,
हकीम लुकमान यू बोला…!
वो ज़िंदा है तुझ में..’
तू मर चूका है जिस में..!🥀✍🏻

Previous Poem
Next Poem
Spread the love

लगातार अपडेट रहने के लिए सावन से फ़ेसबुक, ट्विटर, इन्स्टाग्राम, पिन्टरेस्ट पर जुड़े| 

यदि आपको सावन पर किसी भी प्रकार की समस्या आती है तो हमें हमारे फ़ेसबुक पेज पर सूचित करें|

4 Comments

  1. ज्योति कुमार - May 25, 2018, 2:44 pm

    वाह

  2. mansi - May 25, 2018, 2:53 pm

    dhanywaad apka

  3. Sridhar - May 26, 2018, 1:19 pm

    bahut khoob

  4. शकुन सक्सेना - May 27, 2018, 11:47 am

    ठीक ई

Leave a Reply