दिल

कई बार थोडा सा मज़ाक कर लेता हूं,
कई बार लोगों को थोड़ा सा परेशान कर देता हूं।

इस मस्ती के पीछे का प्यार वह समझ नहीं पाते हैं
पता नहीं क्यों फिर भी लोग रूठ जाते हैं!!

और यह पागल दिल,
फिर उन्हें मनाने निकल पड़ता है।

Previous Poem
Next Poem

लगातार अपडेट रहने के लिए सावन से फ़ेसबुक, ट्विटर, इन्स्टाग्राम, पिन्टरेस्ट पर जुड़े| 

यदि आपको सावन पर किसी भी प्रकार की समस्या आती है तो हमें हमारे फ़ेसबुक पेज पर सूचित करें|

2 Comments

  1. ज्योति कुमार - July 5, 2018, 9:32 am

    सुपर

  2. राही अंजाना - July 7, 2018, 11:36 pm

    वाह

Leave a Reply