तुम्हारे पास हमारे पास

तुम्हारे पास हमारे पास

तुम्हारे साथ

✏✏✏✏✏

जिस्म अभी है ज़िंदा

पर ये रूह तुम्हारे साथ है,

करने चले थे इश्क़

पर अब अश्क़ हमारे साथ है,

क्या कहे उस इश्क़ का

अंजाम कुछ ऐसा मिला,

हर ख़ुशी तुम्हारे साथ और

हर गम हमारे साथ है.

💘💘💘💘💘💘

हमारी सभी है काली और

तुम्हारी सुनहरी रात है,

तेरे समझ न आएगा ये

अशिक़ो की बात है,

मेरा दिल अभी टूटा नही

महफूज़ तेरे पास है,

तेरी लब पे हरपल गूँजती

मेरी ग़ज़ल तुम्हारे साथ है।

🍷🍷🍷🍷🍷

मेरी ज़िन्दगी की हर दुआ

मन्नत तुम्हारे साथ है,

मेरी हस्ती हुई नीलाम और

अज़मत तुम्हारे पास है,

मेरी आशिक़ी अनमोल है

मेरी मौत से ये जान लो,

हुई जो रब से बात समझो

कल जन्नत तुम्हारे पास है।

🌎🌎🌎🌎❤

@Maharshi pathak

लगातार अपडेट रहने के लिए सावन से फ़ेसबुक, ट्विटर, इन्स्टाग्राम, पिन्टरेस्ट पर जुड़े| 
यदि आपको सावन पर किसी भी प्रकार की समस्या आती है तो हमें हमारे फ़ेसबुक पेज पर सूचित करें|
 
सावन का लक्ष्य है, कविता के लिए एक मंच स्थापित करना, जिस पर कविता का प्रचार व प्रसार किया जा सके और मानवता के संदेश को जन-जन तक पहुंचाया जा सके| यदि आप सावन की इस उद्देश्य में मदद करना चाहते है तो नीचे दिए विज्ञापन पर क्लिक करके हमारी आर्थिक मदद करें|

 

Leave a Reply