क्या हिम्मत रखता था तू

क्या हिम्मत रखता था तू
डरता था न मौत से,
ठान लिया जब जीतने की
सफलता मिली हर ओर से
तेरे रुतबे ने ही तो
कइयों को राजनीति से प्रेम कराया है,

अटल हमेशा अटल रहेगा
उसने हर दिल में नाम कमाया है।।

-मनीष

Previous Poem
Next Poem
Spread the love

लगातार अपडेट रहने के लिए सावन से फ़ेसबुक, ट्विटर, इन्स्टाग्राम, पिन्टरेस्ट पर जुड़े| 

यदि आपको सावन पर किसी भी प्रकार की समस्या आती है तो हमें हमारे फ़ेसबुक पेज पर सूचित करें|

amature writer,thinker,listener,speaker.

3 Comments

  1. ज्योति कुमार - August 18, 2018, 4:22 am

    वाह

  2. Neelam Tyagi - August 19, 2018, 11:27 am

    nice

  3. Antariksha Saha - August 22, 2018, 10:13 am

    Awesome

Leave a Reply