आंखे नम है

आज फिर तेरी आँखे नम है
पता नहीं किस बात का तुझे गम हैं
ज़िन्दगी के पल कुछ कम हैं
नहीं तोह हाल ऐ दिल पगली हम भी पूछते
ज्यादा ना सही थोड़ा ख्याल हम भी रखते

Previous Poem
Next Poem

लगातार अपडेट रहने के लिए सावन से फ़ेसबुक, ट्विटर, इन्स्टाग्राम, पिन्टरेस्ट पर जुड़े| 

यदि आपको सावन पर किसी भी प्रकार की समस्या आती है तो हमें हमारे फ़ेसबुक पेज पर सूचित करें|

Hi Everyone, I am from Kolkata.Land of culture and heritage.These are my creations.Please post your comment if you like it

4 Comments

  1. ज्योति कुमार - August 10, 2018, 5:03 pm

    Nice ones

  2. Panna - August 10, 2018, 8:33 pm

    bahut khoob

Leave a Reply