अवतार

जब जब पड़ा धरा पर , दानवों का भार
तब तब आ गए तुम, लेकर ये अवतार
मिटा दिया भू से, तुमने अनाचार

Previous Poem
Next Poem
Spread the love

लगातार अपडेट रहने के लिए सावन से फ़ेसबुक, ट्विटर, इन्स्टाग्राम, पिन्टरेस्ट पर जुड़े| 

यदि आपको सावन पर किसी भी प्रकार की समस्या आती है तो हमें हमारे फ़ेसबुक पेज पर सूचित करें|

Leave a Reply