अब

अब ममता की छांँव और आत्मीयता को छोड़,

व्यवसायिक मुकाम हासिल करने में जुटी जिंदगी ।

अब कुदरती हवा और चाँदनी रात के नज़ारों को भूल,

वातानुकूलित कमरे और दूरभाष में जुटी जिंदगी ।

अब आधुनिकता की जद्दोजहद में खुशी-ग़म

बाँटना भूल, अपने आप में सिमटती जिंदगी ।

अब भीतर से खोखली होती,

दिखावटी मुखौटों से सुसज्जित होती जिंदगी।

अब वात्सल्य, स्नेह, प्रेम बंधनों को तोड़,

खुदगर्ज होती जिंदगी ।

अब मानसिक असंतुलन के बाढ़ में बहती  जिंदगी।

अब भावनाओं के बिखराव में ,

मानसिक स्थायित्व ढूंढ़ती जिंदगी ।।


लगातार अपडेट रहने के लिए सावन से फ़ेसबुक, ट्विटर, इन्स्टाग्राम, पिन्टरेस्ट पर जुड़े| 
यदि आपको सावन पर किसी भी प्रकार की समस्या आती है तो हमें हमारे फ़ेसबुक पेज पर सूचित करें|
 

9 Comments

  1. Onyiro Promise - August 1, 2017, 3:06 pm

    I am Suvo Sarkar of Emirates NBD bank. I wish to share a business proposal with you, it is in connection with your last name. Please contact me on my email at (sarkarsuvo611@gmail.com) so that i will get back to you soonest.

  2. Profile photo of Neetika sarsar

    Neetika sarsar - May 20, 2017, 12:03 pm

    bhut khub

  3. Profile photo of सीमा राठी

    सीमा राठी - May 17, 2017, 7:58 pm

    nice

  4. Vipul Mishra - May 17, 2017, 12:44 am

    उम्दा

  5. Nitika Verma - May 16, 2017, 10:34 pm

    Ati Sundar Rachna

Leave a Reply