अंदाज

✍🌹अंदाज 🌹✍
——-($)——

आलस्य न प्रमाद धर
तनाव न अवसाद धर

ऊमंग रख नस-नस मे
उत्साह का स्वाद रख

तरुणाई की बेला है
जीत भाव आगाध रख

संघर्ष से घबरा नही
तरंगित शंखनाद रख

जीवन की परिभाषा गढ
सकारात्मकता साथ रख

रोग भय न कष्ट से डर
दृढ़ता का तप साध रख

श्याम दास महंत
घरघोडा
जिला-रायगढ (छग)
(दिनांक 28-03-2018)

Previous Poem
Next Poem
Spread the love

लगातार अपडेट रहने के लिए सावन से फ़ेसबुक, ट्विटर, इन्स्टाग्राम, पिन्टरेस्ट पर जुड़े| 

यदि आपको सावन पर किसी भी प्रकार की समस्या आती है तो हमें हमारे फ़ेसबुक पेज पर सूचित करें|

1 Comment

  1. ashmita - March 31, 2018, 4:39 pm

    nice

Leave a Reply